सिगरेट के मात्र छह कश से भी किडनी (Kidney) फेल

(यदि इतनी बार करते हैं टॉयलेट, ये है स्वस्थ किडनी का संकेत)

रायपुर (छत्तीसगढ)। किडनी की बीमारियों से पीड़त लोगों की संख्या लगातार बढ़ रही है। बुधवार (24 अक्टूबर, 2018) को छत्तीसगढ़ यूरोलॉजी सोसाइटी की ओर से वीआइपी रोड स्थित वीडब्ल्यू कैनियान होटल में मुंबई, गोवा, नागपुर के यूरोलॉजी विशेषज्ञ ने मरीजों की मुफ्त में जांच की। तीन दिवसीय आयोजन के पहले दिन 1500 मरीज पहुंचे। इनमें प्रोस्टेट कैंसर (Cancer) के 300 मरीज और 1100 मरीज पथरी से पीड़ित पाए गए। 100 लोगों ने नियमित जांच कराई।

चार यूरोलॉजी विशेषज्ञ की टीम में डॉ. पंकज महेश्वरी फोर्टिस मुंबई, डॉ. सुहास सालपेक नागपुर, डॉ. मकरंद कोचीकर मिरच और डॉ. कंदर्भ पारिख अहमदाबाद शामिल थे। डॉ. पंकज ने बताया कि सर्वाधिक मरीज पथरी से पीड़ित हैं और कई प्रोस्टेट कैंसर से। इसकी वजह है, तंबाकू उत्पाद का सेवन और अत्यधिक धूम्रपान। सिगरेट के मात्र छह कश से भी किडनी फेल हो रही है।

प्रोस्टेट कैंसर जानलेवा नहीं, लेकिन उपचार जरूरी

डॉ. पंकज ने बताया कि प्रोस्टेट कैंसर जानलेवा नहीं है, लेकिन नियमित उपचार नहीं करवाया गया तो अन्य बीमारियों की गिरफ्त में आ सकते हैं। प्रोस्टेट कैंसर तंबाकू का नियमित सेवन करने वालों को होता है। पेशाब की थैली में मस्से की तरह बहुत से दाने हो जाते हैं। इससे पेशाब रुकने लगती है, इसकी नियमित जांच कराई जाए तो दवाइयों से दूर किया जा सकता है। जांच नहीं होने पर मस्से की संख्या बढ़ जाती है। पेशाब रुकने लगती है और किडनी फेल होने की संभावना बढ़ जाती है।

टमाटर, पालक के बजाय नमक करें कम, पथरी से मिलेगी मुक्ति

मुफ्त शिविर में अहमदाबाद से आए डॉ. कंदर्भ पारिख ने बताया कि पथरी होने पर बहुत से मरीज अंधविश्वास पाल लेते हैं। कई टमाटर और पालक खाना छोड़ देते हैं, लेकिन ये ठीक नहीं। आप दिन भर में कितना टामाटर खा लेंगे जो पथरी को बढ़ा देगा। पथरी होने का मुख्य कारण होता है—’नमक का अत्यधिक सेवन।’ उसके बाद तम्बाकू का सेवन। इसके अलावा पापड़, चटनी और अचार। ये चीजें शरीर के पानी की मात्रा को कम कर देती हैं। इससे पथरी होने की संभावना बढ़ जाती है।

पेशाब अधिक होने का मतलब किडनी स्वस्थ

सामान्यतः कई लोग अधिक से अधिक पानी पीने लगते हैं, लेकिन पेशाब उस मात्रा में नहीं होती, जो बीमारी का कारण है। आपको रोजाना देखना होगा कि आप कितनी बार पेशाब जाते हैं। आप यदि सात से आठ बार पेशाब जाते हैं और पेशाब पानी की तरह साफ है-मतलब आपकी किडनी स्वस्थ्य है।

साभार: नई दुनिया। Thu, 25 Oct 2018
http://bit.ly/2QauWjX

Leave a Reply